चुनाव रिजल्ट लोक सभा इलेक्शन 2019: भारतीय आम चुनाव 17 अप्रैल 2019 से 7 चरणों में 11 अप्रैल 2019 से 19 मई 2019 तक आयोजित होने वाला है। मतों की गिनती 23 मई 2019 को होगी और उसी दिन चुनाव रिजल्ट घोषित किए जाएंगे।

नोट: आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, ओडिशा और सिक्किम राज्यों में विधानसभा चुनाव आम चुनाव के साथ-साथ होंगे।

चुनाव रिजल्ट

लोक सभा इलेक्शन (चुनाव) का कार्यक्रम

चुनाव 7 चरणों में होने वाला है। मतगणना की तारीख 23 मई है। बिहार, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल में अधिकतम 7 चरणों में चुनाव होंगे।

चुनाव के चरणों का विवरण निचे दिया गया है:-

चरण 1: 11 अप्रैल, 91 लोकसभा क्षेत्र, 20  राज्य/UT: आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, असम, बिहार, छत्तीसगढ़, जम्मू और कश्मीर, महाराष्ट्र, मिजोरम, मणिपुर, मेघालय, नागालैंड, ओडिशा, सिक्किम, तेलंगाना, त्रिपुरा, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पश्चिम बंगाल, अंडमान और निकोबार द्वीप, लक्षद्वीप

चरण 2: 18 अप्रैल, 97 लोकसभा क्षेत्र, 13 राज्य/UT: असम, बिहार, छत्तीसगढ़, जम्मू और कश्मीर, कर्नाटक, महाराष्ट्र, मणिपुर, ओडिशा, तमिलनाडु, त्रिपुरा, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, पुदुचेरी

चरण 3: 23 अप्रैल, 115 लोकसभा क्षेत्र, 14 राज्य/UT: असम, बिहार, छत्तीसगढ़, गुजरात, गोवा, जम्मू और कश्मीर, कर्नाटक, केरल, महाराष्ट्र, ओडिशा, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, दादरा और नगर हवेली, दमन और दीव

चरण 4: 29 अप्रैल, 71 लोकसभा क्षेत्र, 9 राज्य/UT: बिहार, जम्मू और कश्मीर, झारखंड, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, ओडिशा, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल

चरण 5: 6 मई, 51 लोकसभा क्षेत्र, 7 राज्य/UT: बिहार, जम्मू और कश्मीर, झारखंड, मध्य प्रदेश, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल

चरण 6: 12 मई, 59 लोकसभा क्षेत्र, 7 राज्य/UT: बिहार, हरियाणा, झारखंड, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, नई दिल्ली

चरण 7: 19 मई, 59 लोकसभा क्षेत्र, 8 राज्य/UT: बिहार, हिमाचल, झारखंड, मध्य प्रदेश, पंजाब, पश्चिम बंगाल, चंडीगढ़, उत्तर प्रदेश

लोक सभा इलेक्शन 2019 का चुनाव रिजल्ट (परिणाम दिन) कब है?

जैसा की हम सभी जानते हैं की पहली चरण का मतदान 11 अप्रैल 2019 से शुरू है और आखरी यानि सातवीं चरण का मतदान 19 मई को है। इसकी को देखते हुए मतगणना की तारीख 23 मई 2019 (गुरूवार) को राखी गई है। आपको बता दें की पुरे भारत में मतगणना एक ही दिन में होगा। मतों की गिनती सुबह 8 बजे शुरू होगी और शाम तक सभी रिजल्ट आने की उम्मीद होगी, हालांकि, देरी हालांकि, देरी भी हो सकती है।

चुनाव रिजल्ट लोक सभा इलेक्शन 2019 

लोकसभा चुनाव से सम्बंधित कुछ मुख्या बातें

चुनाव आयोग की प्रेस कॉन्फ्रेंस के कुछ मुख्य अंश यहां दिए गए हैं।

1. वोटर वेरिफ़िएबल पेपर ऑडिट ट्रेल (VVPAT) सभी इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों में उपलब्ध होगा। इस आम चुनाव में कुल 17.4 लाख VVPAT का इस्तेमाल किया जाएगा।

2. ट्विटर और फेसबुक जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ने स्वच्छ चुनाव अभियान सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध किया है।

3. जम्मू और कश्मीर के लिए तीन विशेष पर्यवेक्षक नियुक्त किए गए हैं। विशेष पर्यवेक्षकों को कुछ संवेदनशील राज्यों में भेजा जाएगा।

4. सभी ईवीएम में उम्मीदवारों की तस्वीरें होंगी ताकि मतदाताओं में अधिक स्पष्टता हो।

लोक सभा चुनाव 2019 में कितने लोग मतदान करेंगे?

चुनाव आयोग ने अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा है कि पंजीकृत कुल मतदाता 2014 लोकसभा चुनावों में 814.5 मिलियन की तुलना में लगभग 900 मिलियन लोक सभा चुनाव 2019 में बढ़ा है। चुनाव आयोग ने कहा कि यह 84 मिलियन से अधिक मतदाताओं की वृद्धि है।

15 मिलियन से अधिक मतदाता 18-19 वर्ष आयु वर्ग में हैं। आयोग ने 2012 के बाद से मतदाता सूची में “अन्य” के रूप में लिखे लिंग वाले ट्रांसजेंडर व्यक्तियों के नामांकन की अनुमति दी है। “अन्य” लिंग के रूप में नामांकित किए गए मतदाताओं की संख्या 38,325 है। वर्तमान मतदाता सूची में 71,735 विदेशी मतदाताओं को नामांकित किया गया है। पोल पैनल ने कहा कि मतदाता सूची में 16,77,386 मतदान के दौरान सेवा देने वाले मतदाता हैं।

भारत में मतदाता के रूप में पंजीकृत होने के लिए क्या-क्या आपके पास होना चाहिए

एक सामान्य मतदाता के रूप में पंजीकृत होने के लिए कुछ जरुरी पात्राएँ निचे दिया गया है
1 आपको भारत का नागरिक होना चाहिए
2 18 या उससे अधिक उम्र के होना चाहिए
3 भारत में निवास करना चाहिए
4 निवास का प्रूफ होना चाहिए। भारतीय निर्वाचन क्षेत्र जहां आप रहते है।

(लोकसभा चुनाव 2019 के लिए, जो नागरिक 1 जनवरी, 2019 तक 18 वर्ष के हो गए थे, वे वोट देने के लिए मतदाता सूचि में पंजीकरण करने के पात्र थे।)

नोटा (NOTA) क्या है

NOTA उपरोक्त में से किसी को नहीं का संक्षिप्त नाम है। सुप्रीम कोर्ट ने 27 सितंबर, 2013 के अपने फैसले में कहा था कि भारत भर में सभी इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (EVM) में पार्टियों की सूची के अंत में एक NOTA विकल्प होगा। यह मतदाताओं को अनुमति देगा, की यदि उसे कोई उम्मीदवार पसंद नहीं है तो NOTA का इस्तेमाल कर सकते है।

सोशल मीडिया पोल वॉर पर नजर रखने के लिए चुनाव आयोग की योजना कैसे है?

1. चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों और लोकसभा चुनाव 2019 में लड़ने वाले उम्मीदवारों द्वारा सोशल मीडिया के उपयोग के संबंध में स्पष्ट दिशा-निर्देश निर्धारित किए हैं।

2. आम चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों को अपने सोशल मीडिया अकाउंट का विवरण प्रस्तुत करना आवश्यक है। नामांकन दाखिल करते समय भी यही करना होता है।

3. सोशल मीडिया पर सभी राजनीतिक विज्ञापन के लिए मीडिया प्रमाणन और निगरानी समितियों (MCMC) के प्रसार की आवश्यकता होगी।

4. सोशल मीडिया पर सभी विज्ञापनों को भी पूर्व-प्रमाणीकरण की आवश्यकता होगी। सीईसी सुनील अरोड़ा ने कहा कि सोशल मीडिया में विज्ञापन प्रचार का सारा खर्च चुनाव खर्च खाते में शामिल किया जाना है।

5. चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों और राजनीतिक दलों को अपने चुनाव खर्च खाते में चुनाव प्रचार (सोशल मीडिया पर विज्ञापन पर व्यय सहित) पर सभी खर्चों को शामिल करना होगा।

मतदाता सूची में अपना नाम कैसे सुनिश्चित करें

चुनाव आयोग ने सात चरणों में होने वाले लोकसभा चुनावों की तारीखों की घोषणा कर दी है। अपने मताधिकार का प्रयोग करके आप लोकतंत्र के सबसे बड़े त्योहार में भाग लेते हैं।

सिर्फ वोटर आईडी होना आपके लिए वोट डालने के लिए पर्याप्त नहीं है। अपना वोट डालने के लिए आपको जांचना होगा कि आपका नाम या वोटर आईडी मतदाता सूची का हिस्सा है या नहीं। चूंकि मतदाता सूचियां बदलती रहती हैं, इसलिए आपका नाम गायब हो सकता है।

मतदाता सूची पर अपना नाम जाँचने के लिए नीचे दिए गए चरणों का पालन करें।

1. राष्ट्रीय मतदाता सेवा पोर्टल (NVSP) चुनावी खोज पृष्ठ पर जाएं।

2. यहां आप मतदाता सूची में अपना नाम दो तरीकों से खोज सकते हैं

3. अपना मूल विवरण दर्ज करें या अपना चुनावी फोटो आईडी कार्ड (EPIC) नंबर दर्ज करें।

4. आपके मतदाता पहचान पत्र पर मोटे अक्षरों में EPIC नंबर अंकित है।

5. यदि आपके पास मतदाता पहचान पत्र नहीं है, तो NVSP इलेक्टोरल सर्च पेज पर जाएं।

6. विवरण के आधार पर खोजें पर क्लिक करें।

7. अपना नाम, लिंग, आयु, विधानसभा क्षेत्र आदि जैसे विवरण भरें।

8. captcha image पर दिखाई देने वाला कोड दर्ज करें, और अंत में, खोज पर क्लिक करें।

यदि आपका नाम Voter list में नहीं है तो क्या करें?

यदि आपका नाम मतदाता सूची से गायब है और आपके पास पंजीकृत मतदाता पहचान पत्र है, तो अपना नाम दर्ज करने के लिए इन चरणों का पालन करें।

1. दो प्रक्रियाएं हैं – ऑनलाइन और ऑफलाइन।

ऑनलाइन पंजीकरण:

2. चुनाव आयोग की आधिकारिक वेबसाइट – eci।nic।in पर जाएं

3. ऑनलाइन मतदाता पंजीकरण पर क्लिक करें।

4. साइन अप करने के लिए एक user id और पासवर्ड बनाएँ।

5. विवरण भरें और अपनी तस्वीर और फिर उन दस्तावेजों को अपलोड करें जिन्हें पते के प्रमाण के रूप में स्वीकार किया जा सकता है।

6. यदि आप दस्तावेज़ों को अपलोड करने में परेशानी का सामना कर रहे हैं, तो अपने दस्तावेजों को जमा करने के लिए बूथ स्तर के अधिकारी (BLO) से का अनुरोध करें।

7. औपचारिकताएं पूरी हो जाने के बाद, आप अपने आवेदन की स्थिति को ट्रैक करने के लिए एक ई-मेल संदेश भेजें। Message आप इस तरह से लिखें ” EPIC (space) अपना मतदाता पहचान पत्र नंबर और फिर 9211728082 पर भेज दें।

आप ईसीआई (ECI’s) की वेबसाइट से फॉर्म डाउनलोड कर सकते हैं या ईआरओ (ERO) कार्यालय से फॉर्म प्राप्त कर सकते हैं।

फॉर्म भरें और आवश्यक दस्तावेज संलग्न करें। फिर इसे अपने निर्वाचन क्षेत्र के मतदाता केंद्र या BLO को दें।

Lok sabha adhyaksh kaun janne ke liye yah post padhen

विकिपीडिया से चुनाव रिजल्ट का पोस्ट पढने के लिए यहाँ क्लिक करें

प्रिये पाठक हमर पोस्ट ” चुनाव रिजल्ट लोक सभा इलेक्शन 2019 ” पढ़ने के लिए आपका शुक्रिया। यदि किसी तरह की गलती रह गई होतो कृपया कमेंट करें।

Spread the love

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

  • Sign up
Lost your password? Please enter your username or email address. You will receive a link to create a new password via email.
We do not share your personal details with anyone.
×

Cart