Jamia - JMI CDOL

BSO04 भारत में सामाजिक परिवर्तन और सामाजिक समस्याएं – प्रश्न उत्तर

BSO04

BSO04 भारत में सामाजिक परिवर्तन और सामाजिक समस्याएं ( Social Change and Social Problems in India ) परीक्षा का मुख्य प्रश्न उत्तर – BAG ( Bachelor in Arts ) – BSO04

BSO04

Course Title – भारत में सामाजिक परिवर्तन और सामाजिक समस्याएं / Social Change and Social Problems in India

Course Code – BSO04


BSO04 – भारत में सामाजिक परिवर्तन और सामाजिक समस्याएं
Social Change and Social Problems in India – Solved Question

Q1. सामाजिक परिवर्तन क्या है? उदाहरणों के साथ भारतीय संदर्भ में सामाजिक परिवर्तन की चर्चा  कीजिए ।
What is social transformation? Discuss social transformation in the Indian Context with examples.

Ans:

सामाजिक परिवर्तन

परिवर्तन प्रकृति का नियम है । हर एक चीज परिवर्तित होती रहती है, जैसे समय, समय की स्थिति, समाज, ऋतुएँ, जीव एवं उनका व्यवहार, सोच एवं सिद्धांत, जीवित और निर्जीव हरएक वस्तु आदि आदि । अब प्रश्न यह उठता है कि क्या परिवर्तन ही विकास है या विकास की तरफ उठता हुआ एक कदम है । अपने चारो तरफ अगर ध्यान से अन्वेषण किया जाये तो हम पायेंगे कि हर एक छण कुछ न कुछ नया हो रहा है । क्या नवीनता और परिवर्तन एक ही चीज है । यह कुछ ऐसे प्रश्न हैं जो हमेशा से हरएक के मन और मस्तिष्क को झझोरते रहते हैं । मनुष्य इसका उत्तर जानते हुए भी अनजान बना रहता है या फिर अनजान बने रहने में ही अपनी भलाई समझता है।

 भारतीय संदर्भ में सामाजिक परिवर्तन

मैं यहाँ पर सामाजिक परिवर्तन और नयी सोच के बारे में अपने कुछ विचार व्यक्त कर रहा हूँ । आदिकाल से मनुष्य को दुसरे के बारे में सोचना और उसकी नक़ल करना अच्छा लगता है । प्रतिस्पर्धा करना जैसे मनुष्यों की आदत बन गयी है, और मनुष्यों की बात ही अलग पशु पक्षी भी एक दुसरे की नक़ल और एक दुसरे से स्पर्धा करते हैं । एक जीव दुसरे जीव से अपने आप को अलग और बेहतर साबित करने की कोशिश हमेशा करता रहता है अर्थात विभिन्न समाज में विभिन्न प्रकार के वर्गीकरण की प्रक्रिया स्वतः उत्पन्न होती है । जिस तरह आवश्यकता अविष्कार की जननी है उसी तरह श्रेष्ठता और विकास की यही अवधारणा एक सामाजिक परिवर्तन की नीव बनती है या यूँ कहें कि इस प्रकार के सामाजिक संघर्ष से उत्पन्न श्रेष्ट परिवर्तन भविष्य में उच्च विकास की परिधि को प्राप्त करता है । यह एक सतत प्राकृतिक प्रक्रिया है । जीवों के विकास के सम्बन्ध में डार्विनवाद और न्यूडार्विनवाद का सिद्धांत भी यही कहता है।

 

वर्तमान समय मनुष्यता के इतिहास का एक संक्रमण काल है । लोग दिमागी तौर पर काफी विकसित हो गये हैं । आलोचनाओं का बाज़ार गरम है । स्वार्थी और विघटनकारी तत्वों का बोलबाला हो रहा है । प्रेम, सौहार्द और उत्तरदायित्व की भावना का ह्रास हो रहा है । भौतिकवादी संस्कृति अध्यात्म पर हावी है । विज्ञान से हमें नयी नयी उचाईयां प्राप्त हो रही है फिर भी हम सत्य बोलने से इतना डरते हैं जैसे एक छोटा बच्चा घने अँधेरे मे जाने से डरता है । फिर वही यक्षप्रश्न सामने है कि क्या यही विकास है ?

 

हाँ, यह विकास है परन्तु इसके साथ नैतिक विकास भी होना बहुत जरूरी है । आत्मबल पैदा करने के लिए अध्यात्म को अपनाना होगा । विज्ञान के साथ साथ अध्यात्म का संयोग मानवता के विकास में मील का पत्थर साबित होगा । विश्व बन्धुत्व की भावना रखकर विकास के नये क्षितिज को छूना होगा । समाज में व्याप्त असमानता को दूर करके “सर्वे भवन्तु सुखिनः” के सिद्धांत को अपनाते हुये अगर हम आगे बढ़ते हैं तो मैं आशा ही नहीं अपितु पूर्ण विश्वास के साथ कहता हूँ कि यह कालखंड इतिहास में विकास के स्वर्णिम कालखंड के रूप में दर्ज होगा ।

 

आधुनिक भारत में सामाजिक परिवर्तन भारत के प्रमुख समाज एवं नृ-विज्ञानवेत्ता एम.एन. श्रीनिवास की यह महत्त्वपूर्ण कृति विश्व-कवि रवीन्द्रनाथ ठाकुर-स्मृति-भाषणमाला के सारभूत तत्त्वों पर आधारित है। आधुनिक भारतीयता के संदर्भ में रवीन्द्रनाथ ठाकुर की विचारक के रूप में एक अलग महत्ता है। अपनी अमरीकी और यूरोपीय यात्राओं के दौरान विश्वकवि ने जो विचार प्रकट किए हैं वे इस बात का प्रमाण हैं कि भारतीय सामाजिक परिवर्तनों में पाश्चात्य प्रभावों के प्रति उनकी गहरी रुचि थी। स्वाधीनता-प्राप्ति के बाद भारतीय समाज में पश्चिमीकरण की प्रक्रिया और भी तेजश् हुई है, जिसके व्यापक प्रभावों को सांस्कृतिक जीवन पर स्पष्ट देखा जा सकता है। लेखक ने इन प्रभावों को संस्कृतीकरण और पश्चिमीकरण के संदर्भ में व्याख्यायित किया है तथा एक अखिल भारतीय परिप्रेक्ष्य में देखने की आवश्यकता बताई है। उसके अनुसार पश्चिमीकरण भारतीय समाज के किसी विशेष अंश तक सीमित नहीं है और उसका महत्त्व – उससे प्रभावित होनेवालों की संख्या और प्रभावित होने के प्रकार, दोनों ही दृष्टियों से – लगातार बढ़ रहा है। वस्तुत आधुनिक भारतीय समाज के अन्तर्विकास और उसके अन्तर्विरोधों को समझने के लिए यह एक मूल्यवान पुस्तक है।

BSO04 – भारत में सामाजिक परिवर्तन और सामाजिक समस्याएं
Social Change and Social Problems in India – Unsolved Question

LONG QUESTION ANSWERS

Q1. सामाजिक परिवर्तन के प्राकृतिक कारकों का उल्लेख कीजिए

Q2. सामाजिक अविष्कार पर संक्षिप्त टिप्पणी लिखिए

Q3. विकास क्या है? यह आर्थिक वृद्धि से किस प्रकार अलग है?

Q4. मार्कस वाद और उदारवादी परिप्रेक्ष्यों की तुलना कीजिए

Q5. प्रमुख सामाजिक समस्याओं का उल्लेख करते हुए निर्धनता, बेरोजगारी और भ्रष्टाचार जैसी समस्याओं के कारण और उनके निवारण के उपाय समझाइए

Q6. सामाजिक विचलन क्या है? कुछ विद्वानों की परिभाषाओं का उल्लेख करते हुए सामाजिक विचलन के कुछ उदाहरण प्रस्तुत कीजिए

Q7. संस्कृतिकरण क्या है? इसकी विशेषताओं और आदर्शों का वर्णन कीजिए

Q8. संस्कृतिकरण के प्रमुख कारकों का सविस्तार वर्णन करें

Q9. आधुनिकीकरण क्या है? आधुनिकीकरण की प्रमुख विशेषताओं का वर्णन कीजिए

Q10. पूर्वी संस्कृति और पश्चिमी संस्कृति की तुलना कीजिए

Q11. भारत में औद्योगिकीकरण की रूपरेखा पर प्रकाश डालिए

Q12. सामाजिक नियंत्रण में धर्म की भूमिका पर प्रकाश डालिए

Q13. एकीकरण की प्रक्रिया को समझाइए?

Q14. आप इस्लामीकरण से क्या समझते हैं?

Q15. भारत में महिलाओं पर घरेलू हिंसा के विरुद्ध और दहेज के विरुद्ध बनाए गए कानूनों का वर्णन कीजिए

Q16. भ्रूण हत्या रोकने के लिए क्या कानूनी प्रावधान है?

Q17. भारत में शिक्षा का अधिकार विषय पर निबंध लिखिए

Q18. भारत में जनसंख्या संबंधी आंकड़े किन तीन स्रोतों से मिटाए जाते हैं? तीनों स्रोतों का संक्षेप में वर्णन करें

Q19. ग्रामीण क्षेत्रों से नगर की ओर पलायन के कारणों पर विस्तार से प्रकाश डालें

Q20. शहरीकरण के कारणों पर प्रकाश डालिए

Q21. संयुक्त परिवार के लाभ और हानि पर प्रकाश डालिए

Q22. संस्कृति क्या है? संस्कृति के लक्षण क्या है?

Q23. विकास की प्रक्रिया से संबंधित समस्याओं की विवेचना कीजिए

Q24. भूमंडलीकरण का इतिहास पर संक्षिप्त टिप्पणी लिखिए

Q25. बेरोजगारी को परिभाषित कीजिए, और बेरोजगारी के कारणों पर विस्तृत प्रकाश डालिए

Q26. इंटरनेट के लाभ और इसके दुरुपयोग पर सविस्तार प्रकाश डालिए

Q27. विकास से संबंधित विभिन्न सिद्धांतों का वर्णन करें

Q28. भारत में सांप्रदायिकता की समस्या स्पष्ट करें

Q29. सांप्रदायिक राजनीति से क्या समझ?

Q30. अनुसूचित जातियों के कल्याण के लिए तथा उनकी स्थिति में सुधार लाने के लिए सरकार द्वारा क्या प्रयास किए जा रहे हैं?

Q31. स्त्रियों की वर्तमान समस्याओं पर निबंध लिखिए

Q32. भारत की सामाजिक संरचना में जातीयता की भूमिका की व्याख्या करें

Q2. भारत में सामाजिक परिवर्तन की प्रक्रिया के रूप में पश्चिमीकरण की चर्चा कीजिए
Discuss Westernization as a process of social change in India.

Q3.  भारत के संदर्भ में परिवार की संरचना के बदलते स्वरुप की चर्चा कीजिए ।
Discuss changing family structure in the context of India.

Q4. भारत में सामाजिक परिवर्तन की चुनौती के रूप में विस्थापन की चर्चा कीजिए ।
Discuss displacement as a challenge to social transformation in India.

Q5. सीमांतता क्या है? सीमांतता के मुद्दों को सुलझाने के विषय में सरकार की भूमिका की चर्चा कीजिए
What is marginalization? Discuss the role of Government in addressing the issues of the marginalized.

 

BSO04 – भारत में सामाजिक परिवर्तन और सामाजिक समस्याएं
Social Change and Social Problems in India – Unsolved Question

SHORT QUESTION ANSWERS

Q1. ज्यादा गरीब और ज्यादा अमीर लोग सामाजिक परिवर्तन के लिए प्रतिरोध क्यों माने जाते हैं?

Q2. विभिन्न समाजों में परिवर्तन की तीव्रता तथा परिवर्तन का स्तर अलग क्यों होता है?

Q3. स्वतंत्रता के बाद भारत में आर्थिक विकास के लिए कौनसी नीतियां अपनाई गई?

Q4. सामाजिक परिवर्तन और सांस्कृतिक परिवर्तन में क्या अंतर है?

Q5. समाज के विकास के साथसाथ श्रम विभाग में भी वृद्धि क्यों हुई?

Q6. सामाजिक परिवर्तन का चक्रीय सिद्धांत क्या कहता है?

Q7. इंग्लैंड जैसे देश में भी परिवर्तन और नए अविष्कारों का विरोध होता था, किसी एक उदाहरण द्वारा स्पष्ट कीजिए

Q8. आर्थिक विकास की परिभाषा लिखिए?

Q9. मानव विकास क्या है?

Q10. मानव विकास का लक्ष्य क्या है?

Q12. सामाजिक विकास के तीन मुख्य पहलू कौनकौन से हैं?

Q13. पर्यावरणवादी पर्यावरण की रक्षा के लिए किस क्रांतिकारी परिवर्तन को तत्काल चाहते हैं?

Q14. नवउपनिवेशवाद को परिभाषित कीजिए?

Q15. प्रथम विश्व का क्या तात्पर्य है?

Q16. प्राकृतिक और जैविक समस्याओं को सामाजिक समस्या क्यों नहीं कहा जा सकता?

Q17. भारत के किस राज्य में जनसंख्या का घनत्व सबसे ज्यादा और किस राज्य में सबसे कम है?

Q18. ऐच्छिक बेरोजगारी किसे कहते हैं?

Q19. समाजों के इतिहास के बारे में कार्ल मार्क्स का क्या कहना है?

Q20. डॉ मजूमदार ने संस्कृतिकरण को असंस्कृतिकरण किस आधार पर कहा है?

Q21. किस प्रकार के समाज में सामाजिक गतिशीलता अधिक होती है और क्यों?

Q22. मनु स्मृति में राजाओं के पतन और तपस्वियों के सत्तारूढ़ होने के बारे में क्या कहा गया है?

Q23. रचनात्मक गतिशीलता क्या है?

Q24. निर्मल तब्बू को ऊपर उठाने के लिए संविधान के अनुच्छेद 46 में क्या कहा गया है?

Q25. आधुनिकीकरण और पश्चिमीकरण को एक ही मान लेने का भ्रम क्यों पैदा होता है?

Q26. औधोगिकरण को पश्चिमीकरण की देन क्यों कहा जाता है?

Q27. धार्मिक स्वतंत्रता के संबंध में भारतीय संविधान क्या कहता है?

Q28. भारत में औद्योगीकरण की शुरुआत कब और कहां हुआ?

Q29. प्राचीन भारतीय दर्शन ने मानव जीवन को किन चार आश्रमों में विभाजित किया है?

Q30. विदेशों में भारतीयों के प्रवास के प्रमुख कारण क्या है?

Q31. 2025 तक भारत के शहरी मध्यम वर्ग का आकार कितना होने का अनुमान है?

Q32. इस्लामीकरण की परिभाषा लिखि?

Q33. इस्लामिक आंदोलन का असली लक्ष्य क्या है?

Q34. भारत में इस्लामीकरण के सबसे पुराने सिद्धांत का नाम लिखिए

Q35. वक्फ द्वारा लागू की जाने वाली प्रमुख योजनाओं का उल्लेख कीजिए

Q36. चाइल्डलाइन इंडिया फाउंडेशन (CIF) क्या है?

Q37. शिक्षा के अधिकार को मूलभूत अधिकार के तौर पर संवैधानिक दर्जा कब प्राप्त हुआ?

Q38. फैक्ट्री अधिनियम 1948 का उद्देश्य क्या है?

Q39. राष्ट्रीय जनसंख्या नीति (NPP) 2000 का उद्देश्य क्या है?

Q40. राज्य के नीति निर्देशक सिद्धांत क्या है?

Q41. उज्ज्वला योजना क्या है?

Q42. भारत में विवाह के लिए वैधानिक उम्र क्या है? वैधानिक उम्र से पूर्व कन्याओं के सबसे ज्यादा विवाह किन दो राज्यों में होते हैं?

Q43. विकासशील देशों में पुरुषों की तुलना में स्त्रियों की संख्या विकसित देशों से कम क्यों होती है?

Q44. गांव और नगर की तुलना करने में सबसे बड़ी कठिनाई क्या है?

Q45. भारत के पेशेवर लोगों ने रोजगार के लिए कब से विदेश जाना शुरू किया?

Q46. उपनगरीकरण क्या है?

Q47. शहरी आबादी का कितना हिस्सा मलिन (जुग्गी) बस्तियों में रहता है

Q48. आर्थिक दृष्टिकोण से भूमंडलीकरण का आशय क्या है?

Q49. बहुपति परिवार क्या है?

Q50. विकास की परिभाषा लिखिए

Q51. विस्थापन के कारण की सूची बनाइए

Q52. जातीयता की दो मुख्य विशेषताएं लिखिए

Q53. सिल्क रूट क्या है?

Q54. किन क्षेत्रों में बाल श्रमिकों का बड़ा भाग लगा हुआ है?

Q55. भारत में आर्थिक उदारीकरण की प्रक्रिया वास्तव में कब शुरू?

Q56. आंकड़ों के अनुसार बताइए कि हमारे देश में जनसंख्या किस गति से बढ़ रही है?

Q57. अलगाव को परिभाषित करें?

Q58. बाल अपराध के पांच कारणों का उल्लेख कीजिए

Q59. विकास के प्रमुख आयाम क्या है

Q60. भारत के सात बीमारू राज्यों के नाम बताइए

Q61. समुदाय की मुख्य विशेषताएं क्या है?

Q62. भारत के एकीकरण में कौनसी मुख्य बाधा उभरी है?

Q63. महात्मा गांधी ने अछूतों को समानता का अधिकार दिलाने के लिए क्या प्रयास किए?

Q64. पंचायतों तथा स्थानीय निकायों में महिलाओं के आरक्षण की क्या व्यवस्था की गई है?

Q65. एक जातीय पहचान बनाने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक का नाम बताइए

Q66. जातीय राष्ट्रीय संघर्ष का बहुलवादी समाज पर क्या असर पड़ता है?

 

अगर आप Jamia CDOL BSO04 भारत में सामाजिक परिवर्तन और सामाजिक समस्याएं ( Social Change and Social Problems in India ) परीक्षा का मुख्य प्रश्न उत्तर PDF में खरीदना चाहते हैं तो संपर्क करें

Please Contact us for further information / clarification

Dear readers,  please do not forget to share with your friends on Facebook or other social media. Click on below button to share.

 

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.