Jamia - JMI CDOL

BHIS05 आधुनिक विश्व 17 वीं से 20 वीं सदी – परीक्षा का मुख्य प्रश्न उत्तर – BAG

BHIS05

BHIS05 आधुनिक विश्व 17 वीं से 20 वीं सदी  – परीक्षा का मुख्य प्रश्न उत्तर – Bachelor in Arts ( BAG ) जामिया मिल्लिया इस्लामिया CDOL वार्षिक परीक्षा मॉडल प्रश्न पत्र – Bhis05

BHIS05

Course Title – आधुनिक विश्व 17 वीं से 20 वीं सदी / The Modern World 17th to 20th Century

Course Code – BHIS05


BHIS05 आधुनिक विश्व 17 वीं से 20 वीं सदी – 1 sample solved Question

Q1. दूसरे विश्व युद्ध के मुख्य कारणों की विवेचना कीजिए ।
Discuss the main causes of the second-world-war.

उत्तर: रार्बट एरगांग (Robert Ergang) के अनुसार द्वितीय विश्वयुद्ध के मौलिक कारण प्रथम महायुद्ध के कारणों से कोई कम पेचिदा नही थे। वास्तव में दोनों युद्धों के बहुत से मौलिक कारण एक जैसे थे। आइये अब हम मानव इतिहास के इस सर्वाधिक प्राणनाशक युद्ध के कारणों का अवलोकन करें।

  1. वसार्य की संधि: जार्ज फ्रांज़ विलिंग के अनुसार द्वितीय विश्वयुद्ध की तात्कालिक जडें 1919 में प्रथम विश्वयुद्ध को समाप्त करने वाली पेरिस की संधि में निहित थीं। 1919 की वसार्य की ‘आरोपित एवं अपमानजनक’ संधि पर, जर्मनी के प्रतिनिधियों ने मजबूर होकर हस्ताक्षर किये थे। वे इस संधि को दूषित दस्तावेज मानते रहे और उसके द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों को समाप्त करना अपना पवित्र कर्तव्य मानते रहे। प्रोफेसर ए.जे.पी. टेलर का कहना है कि ‘‘प्रथम विश्वयुद्ध ने जर्मनी की समस्या को न केवल अनसुलझा छोड़ दिया, वरन अंत में उसे अधिक प्रखर बना दिया।“ 
  1. राष्ट्रसंघ की असफलता: प्रथम विश्वयुद्ध में हुए विनाश के पश्चात् प्रमुख देशों के राजनीतिज्ञों ने अंतर्राष्ट्रीय सहयोग और स्थायी शांति बनाये रखने के उद्वेश्य से राष्ट्रसंघ की स्थापना की। लेकिन जब समय बीतने लगा और परीक्षा की घड़ी आई तो राष्ट्रसंघ बिल्कुल शक्तिहीन साबित हुआ। अपने प्रारम्भिक वर्षो में, उसने छोटे-छोटे राष्ट्रों के पारस्परिक झगड़ों को निपटाने में बड़ी सफलता अर्जित की।
  1. निःशस्त्रीकरण के प्रयासों की विफलता: जैसे-जैसे अस्त्र-शस्त्र भयावह और घातक होते गए हैं वैसे-वैसे उन पर नियंत्रण के विषय में गंभीरता से चिंतन करना अनिवार्य होता गया है। प्रथम महायुद्ध में हुए विनाश को देखकर विश्व के नेताओं ने यह अनुभव किया कि विश्व में शांति एवं सुरक्षा स्थापित करने हेतु शस्त्रों की होड़ को समाप्त करना आवश्यक था। वसार्य की संधि के अंतर्गत जर्मनी पर निःशस्त्रीकरण संबंधी शर्ते थोपी गई थी।
  1. आपात राजनीति का उदय: प्रथम विश्वयुद्ध से राष्ट्रवादी भावना को बहुत बल मिला था और राष्ट्रीय राज्य (Nation State) की नींव मजबूत हुई। इसके अतिरिक्त इस युद्ध ने प्रजातांत्रिक आदर्शो एवं संस्थाओं को उन लोगों तक पहुंचा दिया था जो अब तक इनसे परिचित नहीं थे। इस युद्ध में जहां राजवंशीय राज्यों की हार हुई थी, वहीं जनतंत्र (जैसे ब्रिटेन, फ्रांस, संयुक्त राज्य अमेरिका) विजयी हुए।
  1. समाजवाद का विकास: प्रथम महायुद्ध में कुछ लोग आर्थिक एवं अन्य प्रकार से लाभान्वित हुए थे, जबकि बहुत से लोगों को अपार कष्टों का सामना करना पड़ा था। इससे समाज में असंतोष और वैर-भाव जागृत हुए। समाजवादी दल, विशेषकर साम्यवादी दल ने इस असंतोष कौ फैलाया और उसे राजनीतिक आयाम प्रदान कर सशक्त बनाया। जब समाजवाद का प्रभाव बढ़ने लगा तो यूरोपीय पूंजीवाद ने उसके खिलाफ मुहिम तेज कर दी। कई देशों में राष्ट्रीयता के नाम पर तथा जर्मनी एवं इटली में समाजवाद का दमन करने के बहाने तानाशाह सरकारों की स्थापना हुई। रुस में साम्यवाद के उदय से पूंजीवादी देश भयभीत हो गये।
  1. तानाशाही का प्रादुर्भाव: 1920 और 1930 के दशक यूरोप के लाखों लोगों के लिए राजनीतिक अस्थिरता, आर्थिक कठिनाइयां, बेरोजगारी, विश्वास टूटने और विक्टोरिया समाज के मूल्य के विघटन के दशक थे। ऐसे लोग फासीवादी आन्दोलन के विचारों और भ्रमों के प्रति आसानी से आकर्षित हो गये।
  1. तुष्टीकरण की नीति: तानाशाहों के उत्थान के लिए ब्रिटेन और फ्रांस की तुष्टीकरण की नीति (Policy of Appeasement) महत्वपूर्ण रुप से जिम्मेदार थी। प्रथम विश्वयुद्ध में फ्रांस और ब्रिटेन ने मिलकर युद्ध किया था। परन्तु युद्ध की समाप्ति के बाद प्रमुख अंतर्राष्ट्रीय समस्याओं के संबंध में इन दोनों देशों में मतभेद उत्पन्न हो गए थे।
  1. राष्ट्रवाद: द्वितीय विश्वयुद्ध के उद्भव के कारणों में उग्रराष्ट्रवाद और विशेषतः आर्थिक राष्ट्रवाद (Economic Nationalism) को एक महत्वपूर्ण स्थान प्राप्त है। प्रथम महायुद्ध के विनाश को देखते हुए राजनीतिज्ञों को यह विश्वास हो गया था कि भविष्य में विश्व को इस संकट से बचाने हेतु परस्पर विरोधी राष्ट्रीय महत्वाकांक्षाओं, पर अंतर्राष्ट्रीय नियंत्रण स्थापित करना बहुत आवश्यक था।
  1. आर्थिक महामंदी: प्रथम विश्वयुद्ध के पश्चात् जर्मनी और इटली की अर्थव्यवस्था चरमरा गई। लेकिन 1924 के पश्चात कुछ ही वर्षो में जर्मनी और इटली की आर्थिक स्थिति में कुछ सुधार हुआ जिससे वहां पर आंतरिक असंतोष दब गया। परन्तु 1929-30 में शुरु होने वाली विश्वव्यापी आर्थिक मंदी के कारण सभी देशों की अर्थव्यवस्था अस्त-व्यस्त हो गई। इस संकट ने विश्व की राजनीतिक एवं आर्थिक स्थिरता को सदा के लिए समाप्त कर दिया।

BHIS05 आधुनिक विश्व 17 वीं से 20 वीं सदी – Unsolved Questions

Short Question – Answers : BHIS05 आधुनिक विश्व 17 वीं से 20 वीं सदी – Jamia CDOL BAG

Q1. औधोगिक क्रांति के काल निर्धारण में प्रो. हेफ और श्रीमती नोवेल्स कीमत में क्या अंतर है?

Q2. क्या कारण है कि औधोगिक क्रांति का आरंभ इंग्लैंड से हुआ?

Q3. औधोगिक क्रांति का घरेलू उद्योगों पर क्या प्रभाव पड़ा?

Q4. किन मंदियों को इंग्लैंड में औधोगिक क्रांति में संकटों की आवृति का ज्वलंत उदाहरण माना जाता है?

Q5. निकोलस कॉपरनिकस कौन था?

Q6. विश्व को न्यूटन की प्रमुख देन क्या है?

Q7. आधुनिक तर्कवाद का पुरोधा किसे माना जाता है, उसका मूलभूत मतलब क्या था?

Q8. ज्ञानोदय योग से क्या आश्य है?

Q9. ज्ञानोदय युगीन नवाचारों-नवीन अनुशासनों की श्रृंखला के उल्लेखनीय अनुशासन क्या है?

Q10. क्रांति से पूर्व फ्रांसीसी समाज किन वर्गों में विभक्त था?

Q11. फ्रांसीसी क्रांति से पूर्व यहां की धार्मिक स्थिति कैसी थी?

Q12. फ्रांसीसी क्रांति किन सिद्धांतों पर आधारित थी?

Q13. फ्रांसीसी क्रांति का विस्फोट किसके योगदान से कब हुआ?

Q14. फ्रांस के इतिहास में सर्वाधिक महत्वपूर्ण स्थान किस घटना का है?

Q15. फ्रेंच क्रांति की सर्वाधिक अहम उल्लेखनीय बात क्या है?

Q16. फ्रांस का राष्ट्रीय सिद्धांत क्या है?

Q17. फ्रेंच क्रांति विश्व इतिहास में अविस्मरणीय क्यों मानी जाती है?

Q18. नेपोलियन बोनापार्ट कौन था?

Q19. नेपोलियन के पतन के लिए उत्तरदाई प्रमुख कारण क्या थे?

Q20. नेपोलियन युग की प्रमुख हस्तियां कौन-कौन सी है?

Q21. कैटलबी के अनुसार 1850 तक इटली का इतिहास कौनसा था?

Ans: “1815 से 1850 तक इटली का इतिहास फूट, विदेशी आधिपत्य तथा पीपल संघर्ष का इतिहास था”I

Q22. इटली के स्वाधीनता का मुख्य शत्रु किसे माना जाता था?

Ans: कैबूर ने कहा था – “आस्ट्रेलिया इटली की स्वतंत्रता का प्रमुख शत्रु है”I

Q23. इटली एक एकीकृत राज्य कब बना?

Q24. इटली की एकीकरण – प्रक्रिया की आत्मा और उसका नायक कौन था?

Q25. जर्मनी के एकीकरण की पृष्ठभूमि किसने तैयार की थी?

Q26. नेपोलियन ने फ्रांस पर कब तक शासन किया?

Q27. वियना शांति समझौता कब हुआ?

Q28. 1848 की क्रांति में किस का पतन हुआ?

Q29. बिस्मार्क कौन था?

Q20. सात सप्ताह का युद्ध किसे कहा जाता है?

Q31. जर्मनी सैनिक तंत्र की सर्वोत्कृष्टता की पुष्टि किस से हुई?

Q32. जर्मनी के एकीकरण में बिस्मार्क की भूमिका क्या थी?

Q33. इंग्लैंड में कृषि क्रांति किस अवधि और किस प्रक्रिया की देन है थी?

Q34. स्वेज नहर का निर्माण कब हुआ भारत पर इसका क्या असर पड़ा?

Q35. उपनिवेशवाद क्या है?

Q36. साम्राज्यवाद के प्रमुख प्रेरक तत्व क्या हैं?

Q37. अमेरिका में औद्योगीकरण का आरंभ कब हुआ?

Q38. 1917 की रूसी क्रांति से क्या आशय है?

Q39. रूस की क्रांति कब और किस रूप में आरंभ हुई?

Q40. अक्टूबर क्रांति का क्या कारण था?

Q41. लेनिन कौन था?

Q42. नियंत्रित पूंजीवाद क्या था?

Q43. चीन पश्चिमी साम्राज्य का शिकार कैसे होने लगा?

Q44. चीन का सबसे दुर्भाग्यपूर्ण समय क्या था?

Q45. चीनी सोवियत गणतंत्र कब और किसने की?

Q46. साम्यवादियों ने धार्मिक पाखंड के लिए किया?

Q47. नीली कुर्ती दल क्या थी?

Q48. इंग्लैंड को स्वर्णमान क्यों गिराना पड़ा?

Q49. मुसोलिनी में फासीवाद व साम्यवाद की तुलना किस प्रकार की?

Q50. नाजी पार्टी का गठन किसने किया नाजियों की बाइबल क्या है?

Q51. द्वितीय विश्वयुद्ध के मूल में कौन सी घटना थी?

Q52. शीत युद्ध से क्या तात्पर्य है?

Q53. सोवियत संघ का विखंडन कब और कितने गणराज्यों में हुआ?

Q54. सोवियत संघ के विघटन का परिणाम किन रूपों में सामने आया?

 

Long Question Answers: BHIS05 आधुनिक विश्व 17 वीं से 20 वीं सदी – Jamia CDOL BAG

Q1. औधोगिक क्रांति से क्या आशय है, यह अनैतिकता के विकास में कैसे सहायक बनी?

Q2. औधोगिक क्रांति को परिभाषित करते हुए इसकी पृष्ठभूमि पर प्रकाश डालिए।

Q3. इंग्लैंड में औधोगिक क्रांति के लिए उत्तरदायी विविध कारणों की विवेचना कीजिए।

Q4. किन क्षेत्रों में हुए औधोगिक विकास से औधोगिक क्रांति का स्वरूप स्पष्ट होता है? विश्लेषणात्मक उत्तर लिखिए।

Q5. औधोगिक क्रांति के प्रभाव का सारगर्भित आकलन कीजिए।

Q6. यूरोप में वैज्ञानिक दृष्टिकोण के आरंभ और विकास की विवेचना कीजिए।

Q7. यूरोप में बौद्धिक विकास किस प्रकार हुआ प्रमुख विद्वानों के कृतित्व का उल्लेख करते हुए उत्तर दीजिए।

Q8. ज्ञानोदय युग का आरंभ कब हुआ? ज्ञानोदय जनित आदर्श परिवेश की विशिष्टताओं का उल्लेख कीजिए।

Q9. ज्ञानोदय के मूलभूत कारणों और प्रभाव का विश्लेषण कीजिए।

Q10. फ्रांसीसी क्रांति से पूर्व यूरोप की राजनीतिक, सामाजिक एवं आर्थिक स्थिति का विश्लेषण कीजिए।

Q11. फ्रांसीसी क्रांति के लिए उत्तरदाई कतिपय के कारणों पर प्रकाश डालिए।

Q12. फ्रांसीसी क्रांति के स्वरूप का समीक्षात्मक आकलन प्रस्तुत कीजिए।

Q13. नेपोलियन बोनापार्ट का संक्षिप्त परिचय देते हुए उनके द्वारा किए गए सुधारात्मक कार्यों का ब्यावरा दीजिए।

Q14. नेपोलियन के पतन हेतु उत्तरदाई कारकों का उल्लेख करते हुए फ्रांसीसी क्रांति व नेपोलियन युग की प्रमुख हस्तियों का परिचय दीजिए।

Q15. जर्मनी के एकीकरण की भूमिका की व्याख्या करते हुए नेपोलियन युग में जर्मनी के स्वरूप का विवेचन कीजिए।

Q16. यूरोप में औद्योगिक क्रांति का विविध क्षेत्रों में पड़े प्रभाव का विश्लेषण कीजिए।

Q17. साम्राज्यवाद से आप क्या समझते हैं? इसके तत्वों की विवेचना कीजिए।

Q18. 1917 की रूसी क्रांति की पृष्ठभूमि और इसके कारणों की विवेचना कीजिए।

Q19. चीन का विभाजन कब क्यों और किस प्रकार हुआ? सारगर्भित विवरण दीजिए।

Q20. कम्युनिस्ट क्रांति के प्रभाव का सिंहावलोकन कीजिए।

Q21. मुसोलिनी की गृह एवं विदेश नीति का विश्लेषण कीजिए।

Q22. शीत युद्ध क्या था? वर्तमान परिपेक्ष में इसे आप किस रूप में देखते हैं।

Q23. इंग्लैंड में औधोगिक क्रांति की मुख्य विशेषताओं की विवेचना कीजिए

Q24. इटली के एकीकरण का विवरण कीजिए।

Q25. 1911 में चीनी क्रांति के मुख्य कारणों की विवेचना कीजिए।

Q26. जर्मनी में नाज़ीवाद के उदय के लिए उत्तरदायी कारकों का परीक्षण कीजिए ।

 

अगर आप Jamia CDOL BAG BHIS05 आधुनिक विश्व 17 वीं से 20 वीं सदी  – परीक्षा का मुख्य प्रश्न उत्तर PDF में खरीदना चाहते हैं तो संपर्क करें

Please Contact us for further information / clarification

Dear readers,  please do not forget to share with your friends on Facebook or other social media. Click on below button to share.

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.