Bharat ka Rashtrapati kaun hai 2024 – वर्तमान में भारत का राष्ट्रपति कौन है

Bharat ka Rastpati kon hai 2024 – वर्तमान में भारत का राष्ट्रपति कौन है ? आजादी से अब तक भारत के राष्ट्रपति के नाम, आपके सभी सवालों का जवाब इस पोस्ट में मिलेगा। तो चलिए जानते है की अब तक कौन-कौन व्यक्ति भारत का राष्ट्रपति बने हैं।

भारत एक बहुत बड़ा और विविध देश है, और इसके शासन में एक निर्दिष्ट संविधानिक पद होता है जिसे “राष्ट्रपति” कहा जाता है। भारत का राष्ट्रपति देश के सबसे महत्वपूर्ण गणतंत्रीय पदों में से एक है और उसकी भूमिका आपातकाल से लेकर गणराज्य तक के विभिन्न पहलुओं को संभालना होता है।

भारत का राष्ट्रपति

आगे बढ़ने से पहले भारत के राष्प्ट्रपति के पद के बारे में थोड़ा सा जानकारी हासिल कर लेते हैं। भारत के राष्ट्रपति देश के पहले नागरिक होते हैं और भारतीय राज्य के प्रमुख होते हैं। यह देश का सर्वोच्च संवैधानिक पद है। वह राष्ट्र की एकता, अखंडता और एकजुटता के प्रतीक के रूप में काम करते हैं।

इलेक्टोरल कॉलेज भारत के राष्ट्रपति का चुनाव करते है, जिसमें संसद के दोनों सदनों के निर्वाचित सदस्य, राज्यों की विधानसभाओं के निर्वाचित सदस्य और दिल्ली और पुदुचेरी के केंद्र शासित प्रदेशों की विधानसभाओं के निर्वाचित सदस्य शामिल होते हैं।

राष्ट्रपति का कार्यकाल 5 वर्ष का होता है और राष्ट्रपति के हस्ताक्षर के बिना भारत में कोई कानून लागू नहीं किया जा सकता है। अब तक के चुने गए राष्ट्रपतियों की सूची और और उनकी संछिप्त जीवनी निचे वर्णन किये गए हैं।

Table of Contents

भारत के वर्तमान राष्ट्रपति

वर्तमान में, भारत के राष्ट्रपति का नाम श्रीमती द्रौपदी मुर्मू है। इनका कार्यकाल July 21st, 2022 से चल रहा है और वह भारत के 15वीं राष्ट्रपति हैं। श्रीमती द्रौपदी मुर्मू एक अनुभवी राजनेत्री हैं और उन्होंने अपने लंबे और समर्पित सार्वजनिक जीवन के दौरान अपनी प्रजा के प्रति विशेष समर्पण दिखाई है।

राष्ट्रपति के कर्तव्य

भारत के राष्ट्रपति को कई महत्वपूर्ण कर्तव्य निभाने का आदेश होता है। उनकी मुख्य जिम्मेदारी राजनीतिक और संविधानिक मामलों का संचालन करना होता है। वे देश की न्यायिक शाखा को नेतृत्व करते हैं और महत्वपूर्ण फैसलों को लेने की जिम्मेदारी उठाते हैं। इसके अलावा, राष्ट्रपति को विदेश यात्राओं पर भी जाना पड़ता है और वे देश की संघीय संरचना के साथ अनुरूपता बनाए रखने के लिए भी कार्य करते हैं।

राष्ट्रपति का चयन

भारत में राष्ट्रपति का चयन एक विस्तृत प्रक्रिया के माध्यम से होता है। राष्ट्रपति को भारतीय राष्ट्रीय संसद के सदस्यों और राज्यों के विधानमंडलों के सदस्यों द्वारा चुना जाता है। चुनाव प्रक्रिया में उम्मीदवारों की उपस्थिति, चुनावी गणना की प्रक्रिया, और आवश्यक बहुमत की आवश्यकता का ध्यान रखा जाता है। इस पद की प्राप्ति एक महत्वपूर्ण और गर्व की बात है और इससे व्यक्ति देश के शीर्ष पद की प्राप्ति करता है।

राष्ट्रपति की महत्वपूर्णता

राष्ट्रपति भारतीय संविधान के अनुसार देश का सबसे ऊचा नागरिक पद होता है। राष्ट्रपति देश के निर्दिष्ट कार्यकाल के दौरान देश की अधिकारिक तरीके से प्रतिनिधित्व करते हैं और उनके पास कुछ महत्वपूर्ण और विशेष शक्तियां भी होती हैं। राष्ट्रपति विभिन्न गणतंत्रीय कार्यों को संचालित करते हैं और राजनीतिक, सामाजिक, और सांस्कृतिक मामलों में महत्वपूर्ण निर्णय लेते हैं।

भारत के राष्ट्रपति के कार्यकाल

भारत के राष्ट्रपति का कार्यकाल पांच वर्ष का होता है, जो कि पुनर्निर्दिष्ट नहीं किया जा सकता है। यदि उन्हें अच्छी प्रदान कार्य के कारण और पद पर अच्छी तरह से निभाने के कारण समय से पहले राष्ट्रपति पद से स्थानांतरित कर दिया जाता है, तो उनके कार्यकाल को पूरा नहीं किया जा सकता है। राष्ट्रपति के कार्यकाल के दौरान, वह विभिन्न सरकारी कार्यक्रमों, विदेशी यात्राओं, और अन्य सार्वजनिक घटनाओं में भी शामिल होते हैं।

Bharat ka Rastpati kon hai 2024 (वर्तमान में भारत का राष्ट्रपति कौन है ?)

श्री राम नाथ कोविंद जी भारत के वर्तमान राष्ट्रपति कौन हैं। उन्होंने ने 25 जुलाई 2017 को भारत के 14वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ लिए। वह भारत के राष्ट्रपति के पद को पाने वाले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के सबसे पहला नेता हैं।

भारत के राष्ट्रपति के नाम (आजादी से 2024 तक)

Name Starting date Ending date Profiles

1. Dr. Rajendra Prasad (डॉ. राजेन्द्र प्रसाद ) : January 26th, 1950 – May 13th, 1962 – वह भारत गणराज्य के पहले राष्ट्रपति थे।

2. Dr. Sarvepalli Radhakrishnan (डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन): May 13th, 1962 – May 13th, 1967 – वह भारत के दूसरे राष्ट्रपति थे।

3. Dr. Zakir Hussain (डॉ. ज़ाकिर हुसैन): May 13th, 1967 – May 3rd, 1969 – वह भारत के तीसरे राष्ट्रपति थे।

4. Shri Varahagiri Venkata Giri (श्री वराहगिरि वैंकट गिरि): May 3rd, 1969 – July 20th, 1969 – डॉ. जाकिर हुसैन की मृत्यु के कारण वह कार्यवाहक राष्ट्रपति थे।

5. Mohammad Hidayatullah (मोहम्मद हिदायतुल्लाह): July 20th, 1969 – August 24th, 1969 – वे वराहगिरि वेंकट गिरि के राष्ट्रपति रहने तक कार्यवाहक राष्ट्रपति रहे।

6. Shri Varahagiri Venkata Giri (श्री वराहगिरि वैंकट गिरि): August 24th, 1969 – August 24th, 1974 – वह भारत के चौथे राष्ट्रपति थे।

7. Dr. Fakhruddin Ali Ahmed (डॉ. फखरुद्दीन अली अहमद): August 24th, 1974 – February 11th, 1977 – वह भारत के पांचवें राष्ट्रपति थे।

8. Shri Basappa Danappa Jatti (श्री बासप्पा दनप्पा जत्ती): February 11th, 1977 – July 25th, 1977 – वह मैसूर के मुख्यमंत्री थे लेकिन फखरुद्दीन अली अहमद की मृत्यु के बाद राष्ट्रपति के रूप में चुने गए।

9. Shri Neelam Sanjiva Reddy (श्री नीलम संजीव रेड्डी): July 25th, 1977 – July 25th, 1982 – वह निर्विरोध भारत के छठे राष्ट्रपति थे।

10. Shri Giani Zail Singh (श्री ज्ञानी जैल सिंह): July 25th, 1982 – July 25th, 1987 – वह भारत के 7वें राष्ट्रपति थे और कांग्रेस पार्टी के सदस्य भी थे।

11. Shri Ramaswamy Venkataraman (श्री आर. वेंकटरमण): July 25th, 1987 – July 25th, 1992 – वह भारत के 8वें राष्ट्रपति थे। वह एक वकील और पेशेवर राजनीतिज्ञ भी थे।

12. Dr. Shankar Dayal Sharma (डॉ. शंकर दयाल शर्मा): July 25th, 1992 – July 25th, 1997 – वह भारत के 9वें राष्ट्रपति थे, और वह भारत की राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी के सदस्य भी थे।

13. Shri Kocheril Raman Narayanan (श्री के.आर. नारायणन): July 25th, 1997 – July 25th, 2002 – वह भारत के 10वें राष्ट्रपति और भारत के सर्वश्रेष्ठ राजनयिक थे।

14. Dr. A.P.J. Abdul Kalam (डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम): July 25th, 2002 – July 25th, 2007 – वह भारत के 11वें राष्ट्रपति थे और वह एक महान वैज्ञानिक थे। उन्होंने इसरो और डीआरडीओ संगठनों में काम किया।

15. Shrimati Pratibha Devi Singh Patil (श्रीमती प्रतिभा देवी सिंह पाटील): July 25th, 2007 – July 25th, 2012 – वह भारत की 12वीं राष्ट्रपति थीं और राष्ट्रपति बनने वाली वह पहली महिला थीं।

16. Shri Pranab Mukherjee (श्री प्रणब मुखर्जी): July 25th, 2012 – July 25th, 2017 – वह भारत के 13वें राष्ट्रपति थे और वह राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता भी थे।

17. Shri Ram Nath Kovind (श्री राम नाथ कोविन्द): July 25th, 2017 – July 21st, 2022 – वह भारत के 14वें राष्ट्रपति थे, और वह बिहार के पूर्व राज्यपाल भी थे।

18. Shrimati Droupadi Murmu (श्रीमती द्रौपदी मुर्मू ): July 21st, 2022 – Working – वह भारत की 15वीं राष्ट्रपति हैं और भारतीय जनता पार्टी की सदस्य है।

भारत के राष्ट्रपति ( Bharat ka Rastpati ) की संछिप्त जीवनी

1. डॉ. राजेंद्र प्रसाद (भारत के पहले राष्ट्रपति)

डॉ। राजेंद्र प्रसाद भारत के पहले राष्ट्रपति थे, जिन्होंने दो कार्यकाल के लिए राष्ट्रपति के रूप में काम किया था। वे संविधान सभा के अध्यक्ष और भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के प्रमुख नेता भी थे। उन्हें 1962 में भारत रत्न से सम्मानित किया गया था।

2. डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन

डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्म 5 सितंबर, 1888 को हुआ था और इस दिन को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है। उन्हें 1954 में भारत रत्न से सम्मानित किया गया था।

3. डॉ. जाकिर हुसैन

डॉ. ज़ाकिर हुसैन भारत के पहले मुस्लिम राष्ट्रपति बने और उनकी पद पर ही मृत्यु हो गई। तत्काल उपराष्ट्रपति, वी।वी। गिरि को कार्यवाहक राष्ट्रपति बनाया गया था। उसके बाद, सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश मोहम्मद हिदायतुल्ला को 20 जुलाई 1969 से 24 अगस्त 1969 तक कार्यवाहक राष्ट्रपति बनाये गए थे।

वे भारत के सबसे प्रसिद्ध तबला वादक थे। मोहम्मद हिदायतुल्ला को 2002 में भारत सरकार द्वारा कला के क्षेत्र में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। डॉ। जाकिर हुसैन ने भारत में शिक्षा की क्रांति भी लाई। उनके नेतृत्व में राष्ट्रीय मुस्लिम विश्वविद्यालय जामिया मिलिया इस्लामिया की स्थापना की गई थी।

4. वी. वी. गिरी

वी. वी. गिरि भारत के चौथे राष्ट्रपति थे। उनका पूरा नाम वराहगिरी वेंकट गिरी था। वह स्वतंत्र उम्मीदवार के रूप में राष्ट्रपति चुने जाने वाले एकमात्र व्यक्ति बने। 1975 में उन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया गया।

5. मोहम्मद हिदायतुल्लाह

वे वराहगिरि वेंकट गिरि के राष्ट्रपति रहने तक कार्यवाहक राष्ट्रपति रहे।

वराहगिरि वेंकट गिरि के राष्ट्रपति रहने तक कार्यवाहक राष्ट्रपति रहे।  राष्ट्रपति पद से पहले, उनका वकील और न्यायाधीश के रूप में एक विशिष्ट करियर था। उनका जन्म 17 दिसंबर 1905 को लखनऊ में हुआ था और उन्होंने अपनी शिक्षा इलाहाबाद विश्वविद्यालय से प्राप्त की।

हिदायतुल्लाह ने द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान ब्रिटिश भारतीय सेना में अपना कानूनी करियर शुरू किया। 1947 में भारत की स्वतंत्रता के बाद, वह न्यायाधीश बने और भारत के सर्वोच्च न्यायालय सहित विभिन्न न्यायालयों में कार्य किया। अपने न्यायिक कार्य के अलावा, हिदायतुल्लाह ने 31 August 1979 से  30 August 1984  तक भारत के उपराष्ट्रपति के रूप में भी कार्य किया।

हिदायतुल्ला एक न्यायाधीश और नेता के रूप में अपनी ईमानदारी और निष्पक्षता के लिए जाने जाते थे।

6. फखरुद्दीन अली अहमद

फखरुद्दीन अली अहमद भारत के पांचवें राष्ट्रपति थे। वह दूसरे राष्ट्रपति थे जिनकी राष्ट्रपति के पद पर मृत्यु हुई। इनकी मृत्यु के बाद बीडी जट्ट को कार्यवाहक राष्ट्रपति बनाया गया।

7. श्री बासप्पा दनप्पा जत्ती

बसप्पा दानप्पा जत्ती का जन्म 10 सितंबर 1912 को हुआ था। उन्हें देश के पांचवें उपराष्ट्रपति के रूप में चुना गया था। 11 फरवरी से 25 जुलाई 1977 तक की अवधि के लिए वह देश के कार्यवाहक राष्ट्रपति रहे।

उन्होंने 7 जून 2002 को अपनी अंतिम सांस ली। उन्हें हमेशा नैतिक और सभ्य राजनीतिक प्रथाओं का पालन करने वाले व्यक्ति के रूप में याद किया जाता है। उन्हें असामान्य चिंतन वाला एक सामान्य व्यक्ति माना गया है। उन्होंने अपनी आत्मकथा का नाम “आई एम माई ओन मॉडल” रखा।

8. नीलम संजीव रेड्डी

नीलम संजीव रेड्डी भारत के छठे राष्ट्रपति बने। वह आंध्र प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री थे। वह सीधे लोकसभा स्पीकर पद से चुने गए और राष्ट्रपति पद के लिए दो बार चुनाव लड़ने वाले सबसे युवा राष्ट्रपति बने।

9. ज्ञानी जैल सिंह

ज्ञानी जैल सिंह राष्ट्रपति बनने से पहले पंजाब के मुख्यमंत्री और केंद्र में मंत्री भी थे। उन्होंने भारतीय डाकघर के बिल पर पॉकेट वीटो का भी इस्तेमाल किया। उनकी अध्यक्षता के दौरान, कई घटनाएं हुईं, जैसे ऑपरेशन ब्लू स्टार, इंदिरा गांधी की हत्या और 1984 के सिख विरोधी दंगे।

10. आर. वेंकटरमन

आर. वेंकटरमन को 25 जुलाई 1987 से 25 जुलाई 1992 तक भारत के राष्ट्रपति के रूप में चुना गया था। इससे पहले वह 1984 से 1987 तक भारत के उपराष्ट्रपति रहे थे। उन्हें दुनिया के विभिन्न हिस्सों से कई सम्मान मिले हैं।

11. डॉ. शंकर दयाल शर्मा

डॉ. शंकर दयाल शर्मा राष्ट्रपति बनने से पहले भारत के आठवें उपराष्ट्रपति थे। 1952 से 1956 तक वे भोपाल के मुख्यमंत्री और 1956 से 1967 तक कैबिनेट मंत्री रहे थे। इंटरनेशनल बार एसोसिएशन ने उन्हें कानूनी पेशे में बहु-उपलब्धियों के कारण ‘लिविंग लीजेंड ऑफ लॉ अवार्ड ऑफ रिकग्निशन’ प्रदान किये थे।

12. के. आर. नारायणन

के. आर. नारायणन भारत के पहले दलित राष्ट्रपति और देश के सर्वोच्च पद को प्राप्त करने वाले पहले मलयाली व्यक्ति थे। वह लोकसभा चुनाव में मतदान करने वाले पहले राष्ट्रपति थे और उन्होंने राज्य विधानसभा को भी संबोधित किया।

13. डॉ. ए.पी. जे. अब्दुल कलाम ( Bharat ka Rastpati aur Scientist )

डॉ. ए. पी. जे. अब्दुल कलाम को ‘मिसाइल मैन ऑफ इंडिया’ के रूप में जाना जाता है। वह पहले वैज्ञानिक थे जिन्होंने राष्ट्रपति का पद संभाला और भारत के पहले राष्ट्रपति थे जिन्होंने सबसे अधिक मत हासिल किए। उनके निर्देशन में, रोहिणी -1 उपग्रह, अग्नि और पृथ्वी मिसाइलों को सफलतापूर्वक लॉन्च किया गया। 1998 में भारत में किए गए पोखरण- II परमाणु परीक्षण 1974 के मूल परमाणु परीक्षण के बाद उन्हें एक महत्वपूर्ण राजनीतिक, संगठनात्मक और तकनीकी भूमिका में देखा गया। उन्हें 1997 में भारत रत्न से सम्मानित किया गया था।

14. श्रीमती प्रतिभा सिंह पाटिल

राष्ट्रपति बनने से पहले वह राजस्थान की राज्यपाल थीं। 1962 से 1985 तक वह पांच बार महाराष्ट्र विधानसभा की सदस्य रहीं और 1991 में अमरावती से लोकसभा के लिए चुनी गईं। इतना ही नहीं, वह सुखोई की उड़ान भरने वाली पहली महिला राष्ट्रपति भी बानी।

15. प्रणब मुखर्जी

राष्ट्रपति चुनाव लड़ने से पहले प्रणब मुखर्जी केंद्र सरकार में वित्त मंत्री थे। उन्हें 1997 में सर्वश्रेष्ठ संसदीय पुरस्कार और 2008 में भारत के दूसरे सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया।

16. राम नाथ कोविंद

राम नाथ कोविंद का जन्म 1 अक्टूबर, 1945 को उत्तर प्रदेश, भारत में हुआ था। वह एक भारतीय वकील और राजनीतिज्ञ हैं। वह भारत के 14 वें और वर्तमान राष्ट्रपति हैं। वह 25 जुलाई, 2017 को राष्ट्रपति का शपथ लिए और वह भारतीय जनता पार्टी के सदस्य हैं। वह बिहार के पूर्व राज्यपाल हैं। राजनीतिक समस्याओं के प्रति उनके दृष्टिकोण ने उन्हें राजनीतिक स्पेक्ट्रम में प्रशंसा दिलाई। एक राज्यपाल के रूप में, उनकी उपलब्धियों में विश्वविद्यालयों में भ्रष्टाचार की जांच के लिए न्यायिक आयोग का निर्माण है।

17. श्रीमती द्रौपदी मुर्मू

द्रौपदी मुर्मू (जन्म 20 जून 1958) एक भारतीय राजनीतिज्ञ और पूर्व शिक्षिका हैं, जो 2022 से भारत के 15वें और वर्तमान राष्ट्रपति के रूप में कार्यरत हैं। वह आदिवासी समुदाय से संबंधित पहली महिला हैं और प्रतिभा पाटिल के बाद दूसरी महिला राष्ट्रपति हैं। वह इस पद पर आसीन होने वाली सबसे कम उम्र की व्यक्ति और स्वतंत्र भारत में जन्मी पहली राष्ट्रपति भी हैं।

उन्होंने 2015 से 2021 तक झारखंड की 8वीं राज्यपाल के रूप में भी कार्य किया है। उन्होंने पहले 2000 से 2009 तक रायरंगपुर विधानसभा क्षेत्र से ओडिशा विधान सभा के सदस्य और 2000 से ओडिशा सरकार के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के रूप में भी कार्य किया है। राजनीति में प्रवेश करने से पहले, उन्होंने 1979 से 1983 तक राज्य सिंचाई और बिजली विभाग में एक क्लर्क के रूप में काम किये, और फिर 1994 से 1997 तक रायरंगपुर में एक शिक्षक के रूप में काम किये हैं ।

भारत के सभी प्रधानमंत्री का नाम और संछिप्त जीवन परिचय

FAQs (अक्सर पूछे जानेवाले सवाल)

1. भारत के राष्ट्रपति कौन होते हैं?
भारत के राष्ट्रपति देश का पहला नागरिक होते हैं।

2. राष्ट्रपति का कार्यकाल कितने साल का होता है?
राष्ट्रपति का कार्यकाल पांच वर्ष का होता है।

3. राष्ट्रपति को कौन चुनता है?
राष्ट्रपति को भारतीय राष्ट्रीय संसद के सदस्यों और राज्यों के विधानमंडलों के सदस्यों द्वारा चुना जाता है।

4. राष्ट्रपति का पद कैसे प्राप्त करना पड़ता है?
राष्ट्रपति को चुनावी प्रक्रिया के माध्यम से पद प्राप्त करना पड़ता है।

5. कितने पिता और पुत्र राष्ट्रपति रहे हैं?
अब तक भारत में कोई भी पिता और उनका पुत्र  राष्ट्रपति  नहीं चुने गए हैं।

6. द्रोपदी मुर्मू किस नंबर की राष्ट्रपति है?
श्रीमती द्रोपदी मुर्मू भारत की 15वीं राष्ट्रपति हैं।

7. भारत का सबसे ऊंचा पद कौन सा है?
भारत का सबसे ऊंचा पद राष्ट्रपति का होता है।

8. भारत का सबसे कम उम्र का राष्ट्रपति कौन है?
भारत का सबसे कम उम्र का राष्ट्रपति श्रीमती द्रोपदी मुर्मू हैं।

9. भारत के पहले उप राष्ट्रपति कौन थे?
भारत के पहले उप राष्ट्रपति जाकिर हुसैन थे।

10. भारत की पहली महिला राष्ट्रपति कौन है?
भारत की पहली महिला राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल हैं।

11. भारत के 11 राष्ट्रपति का नाम क्या है?
भारत के 11वें राष्ट्रपति अवुल पाकिर जैनुलाबदीन आब्दुल कलाम थे।

12. भारत के 12 राष्ट्रपति का क्या नाम है?
भारत के 12वें राष्ट्रपति श्रीमती प्रतिभा देवी सिंह पाटील थे।

13. भारत के 13 राष्ट्रपति का क्या नाम है?
भारत के 13वें राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी थे।

14. भारत के 14 राष्ट्रपति का क्या नाम है?
भारत के 14वें राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविन्द थे।

15. भारत की 15वीं राष्ट्रपति कौन है?
भारत की 15वीं राष्ट्रपति श्रीमती द्रोपदी मुर्मू हैं।

16. भारत के राष्ट्रपति का वेतन 2024 में क्या है?
भारत के राष्ट्रपति का वेतन 2024 में 5 लाख रूपये है।

17. भारत के राष्ट्रपति की अधिकतम आयु कितनी होती है?
भारत के राष्ट्रपति बनने की कोई अधिकतम आयु नहीं है लेकिन न्यूनतम आयु 35 वर्ष है।

18. भारत में कितनी महिला राष्ट्रपति बन चुकी है?
भारत में अब तक केवल 2 ही महिला राष्ट्रपति बन चुकी हैं।

19. राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री में बड़ा कौन है?
राष्ट्रपति प्रधानमंत्री से बड़े होते हैं।

20. राष्ट्रपति का आधार शब्द क्या है?
राष्ट्रपति का आधार शब्द “प्रणाली” है।

21. राष्ट्रपति कितने साल तक रह सकते हैं?
राष्ट्रपति 5 साल तक रह सकते हैं, (कार्यकाल 5 वर्ष का होता है)

22. राष्ट्रपति को अंग्रेजी में क्या कहते हैं?
राष्ट्रपति को अंग्रेजी में “President” कहते हैं।

23. लगातार दो बार राष्ट्रपति कौन बने?
अब तक लगातार दो बार डॉ राजेंद्र प्रसाद राष्ट्रपति बने हैं।

24. राष्ट्रपति का पावर कितना होता है?
भारत में राष्ट्रपति का पावर व्यापक होता है। उन्हें संविधानिक और कार्यकारी शक्ति दी गई होती है, जिससे वे देश के नेतृत्व में विभिन्न कार्यों को संचालित करते हैं। राष्ट्रपति के पास नीतियों की घोषणा करने, क़ानूनों को संगठित करने, संविधान को रख-रखाव करने, राष्ट्रीय सुरक्षा, राजनीतिक आपातकाल और विदेशी संबंधों के मामलों में सलाहकारी भूमिका आदि का प्राधिकार होता है।

25. राष्ट्रपति को क्या क्या मिलता है?
भारत में राष्ट्रपति को कई सुविधाएँ और विशेषाधिकार मिलते हैं। यहां कुछ मुख्य विशेषाधिकारों की सूची है:

1. आवास: राष्ट्रपति को राष्ट्रपति भवन नामक आवास प्रदान किया जाता है। यह विशालकाय और प्रतिष्ठित आवास है जो उनके निवास का केंद्र होता है।

2. सुरक्षा: राष्ट्रपति को विशेष सुरक्षा प्रदान की जाती है। वे राष्ट्रपति गाड़ी, सुरक्षा गार्ड्स, सुरक्षा वायुसेना, सुरक्षा पुलिस, और अन्य सुरक्षा उपकरणों के माध्यम से सुरक्षित रहते हैं।

3. संगठनों की प्रतिष्ठा: राष्ट्रपति भारतीय संविधान के अनुसार अनेक संगठनों के मुख्य पत्रकार होते हैं। उन्हें विभिन्न संगठनों की प्रतिष्ठा का आदान-प्रदान करने का अधिकार होता है।

4. आपत्ति विमोचन: राष्ट्रपति को विशेष आपत्ति विमोचन शक्ति दी गई होती है। यदि कोई विवाद या समस्या उठती है, तो राष्ट्रपति को इसे हल करने की योग्यता होती है।

5. सरकारी उपचारालय: राष्ट्रपति के पास सरकारी उपचारालय होता है जहां उन्हें महत्वपूर्ण निर्णय लेने का अधिकार होता है। वे सरकारी उपचारालय के माध्यम से देश की समग्र गतिविधियों को निर्देशित करते हैं।

यह सूची केवल कुछ मुख्य सुविधाओं को शामिल करती है, जबकि राष्ट्रपति को अन्य भी विशेषाधिकार और लाभ प्राप्त होते हैं।

निष्कर्ष

भारत के राष्ट्रपति का पद महत्वपूर्ण है और यह देश की संविधानिक नेतृत्व का प्रतीक है। राष्ट्रपति को भारतीय संविधान के माध्यम से कई कर्तव्य निभाने का आदेश होता है और वह देश के विकास और प्रगति में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। राष्ट्रपति का चयन विशेष प्रक्रिया के माध्यम से होता है और यह देश की लोकतंत्रिक दृष्टि को प्रतिष्ठित करता है।

तो दोस्तों आपने ऊपर 1947 से 2024 तक भारत के राष्ट्रपति का नाम और उनकी संछिप्त जीवनी के बारे में अध्ययन किये और यदि आप को हमारा यह पोस्ट ” Bharat ka Rastpati kon hai – भारत का राष्ट्रपति कौन है ” अच्छा लगा तो सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करें।

Share on Social Media

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *