शहरीकरण के कारण । Causes of Urbanization in Hindi

शहरीकरण : पिछले कुछ दशकों से भारत की जनसंख्या में तीव्रगति से वृद्धि हुई हे । जनसंख्या वृद्धि के साथ-साथ शहरों और महानगरों की जनसंख्या वृद्धि के साथ-साथ शहरों और महानगरों की जनसंख्या बेतहाशा बढी है । ग्रामीण क्षेत्रों की जनसंख्या का शहरो एवं बडे-बडे महानगरों की ओर पलायन हो रहा है।

शहरीकरण

यूँ तौ शहर हमेशा से ही आकर्षण का केन्द्र रहा है । शहर विकास में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाते रहे हैं । लोग उच्च एवं अच्छी शिक्षा, अच्छा जीवन, अच्छा काम एवं रोजगार, अच्छी चिकित्सा आदि करणों से शहरों की ओर भाग रहे हैं ।

शहरों में पाए जाने वाले आधुनिक एवं चकाचौंध करने वाली सुविधाएं लोगों को अपनी ओर आकर्षित करती हैं ।

ये सक्रिय, नावचारयुक्त और सजीव हैं । यहाँ प्रत्येक व्यक्ति को उसकी अभिलाषाओं एवं आकाक्षाओं को प्राप्त करने हेतु अवसर प्राप्त होते हैं। एक अनुमान के अनुसार एक करोड़ व्यक्ति प्रति सप्ताह रोजी रोटी और तरक्की के सपने संजोए गाँवों से शहरों में से चले आते हैं।

शहरीकरण क्या है?

यदि एक गगनचुंबी इमारत आपके घर की खिड़की से खेत की दृश्य (नजारा) को रोक रही है, तो आपको यह सोचना चाहिए कि शहरीकरण हो रहा है। जब लोगों की आबादी बढ़ती है, तो वहां की आबादी शहर से लेकर आस-पास के क्षेत्रों में फैल जाती है, इसे शहरीकरण कहा जाता है।

शहरीकरण, वह प्रक्रिया जिसके द्वारा बड़ी संख्या में लोग अपेक्षाकृत छोटे क्षेत्रों में स्थायी रूप से केंद्रित हो जाते हैं, शहरों का निर्माण करते हैं।शहरीकरण से तात्पर्य शहरी क्षेत्रों में रहने वाले लोगों की बढ़ती संख्या से है। यह मुख्य रूप से शहरी क्षेत्रों की भौतिक वृद्धि का परिणाम है।

2050 तक, यह भविष्यवाणी की जाती है कि क्रमशः विकासशील और विकसित दुनिया के 64.1% और 85.9% शहरीकरण होंगे। शहरीकरण का आधुनिकीकरण, औद्योगिकीकरण और तर्कसंगतकरण की समाजशास्त्रीय प्रक्रिया से गहरा संबंध है।

शहरीकरण केवल एक आधुनिक घटना नहीं है, बल्कि वैश्विक स्तर पर मानव सामाजिक जड़ों का तेजी से और ऐतिहासिक परिवर्तन है, जिससे मुख्य रूप से ग्रामीण संस्कृति तेजी से शहरी संस्कृति से बदल रही है।

ग्राम संस्कृति की विशेषता सामान्य रक्त संबंध, अंतरंग संबंध और सांप्रदायिक व्यवहार है, जबकि शहरी संस्कृति की विशेषता दूर के रक्त संबंध, अपरिचित संबंधों और प्रतिस्पर्धी व्यवहार से है। दरअसल, आज, एशिया में ढाका, कराची, मुंबई, दिल्ली, मनीला, सियोल और बीजिंग के शहरी समूह प्रत्येक 20 मिलियन से अधिक लोगों के घर हैं।

 शहरीकरण के लिए प्रमुख कारण निम्नलिखित है:-

  1. औद्योगिकीकरण: औद्योगिकीकरण शहरीकरण का एक सर्वाधिक महत्वपूर्ण कारण माना जाता है। आधुनिक उद्योगों का उदय वैश्विक आर्थिक और सामाजिक विकास और परिवर्तन के लिए महत्वपूर्ण मोर साबित हुआ है। इंग्लैंड में औद्योगिक क्रांति के साथ शहरीकरण में बहुत तेजी आई जिसके बाद यूरोपीय महाद्वीप में और फिर अमेरिका में भी ऐसा ही हुआ।  उद्योगों की स्थापना के साथ ही श्रमिकों की जरूरत पड़ी और इसे पूरा करने के लिए ग्रामीण इलाकों से आए। साथ ही उन्होंने अपने नए और बेहतर कमाई वाले रोजगार अवसरों की इच्छा पूरी की। इस प्रकार शहरीकरण की प्रक्रिया शुरू हुई।
  1. सामाजिक कारक: शहरीकरण का एक और कारण सामाजिक कारक है। ग्रामीण लोग शहरों में मौजूद शैक्षणिक, स्वास्थ्य और अन्य आधारभूत सुविधाओं से आकर्षित होते थे, इसके अलावा, तो मैं उन्हें काफी हद तक खुली आजादी मिलती थी जिससे उन्होंने पारिवारिक सदस्यों और पड़ोसियों के हस्तक्षेप के बिना अपना जीवन स्वतंत्रता के साथ जीने का मौका मिलता था जो कि गांव में मुमकिन नहीं होता था। शहरीकरण ने ग्रामीण आबादी की आकांक्षाओं को जागृत किया, जिसके परिणाम स्वरुप गांव से और ज्यादा लोग अपनी आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए तेजी से पलायन करने लगे, इससे भी शहरीकरण में और तेजी आई।
  1. आधुनिकीकरण: आधुनिकीकरण भी शहरीकरण का महत्वपूर्ण कारक है। पैरों में अच्छी सड़कें, बेहतर संचार प्रणालियां, अस्पताल, कॉलेज आदि जैसे आधुनिक सुविधाएं होती हैं जो ग्रामीण लोगों को शहर आकर सुखद और आराम से जीवन की तलाश के लिए आकर्षित करती है। आधुनिकीकरण और पश्चिमीकरण का इस्तेमाल कई बार एक दूसरे के लिए भी होता है। शहरीकरण पश्चिमी जगत का महत्वपूर्ण लक्षण है, और स्वाभाविक है कि आधुनिक विकास से यह प्रभावित होता है।
  1. रोजगार के अवसर: ग्रामीण इलाकों के लोग काम के अवसरों की तलाश में शहरी इलाकों की ओर पलायन करते हैं और शहरीकरण की प्रक्रिया में योगदान देते हैं। गांव अधिकतर कृषि आधारित है और वहां जमीन पर काम करने के लिए बहुत ज्यादा मजदूरों की जरूरत नहीं होती है। अतः यह सभी रोजगार की तलाश में शहरों की ओर पलायन कर जाते हैं।

भारत में शिक्षा का अधिकार विषय पर निबंध लिखिए

निष्कर्ष

शहरों में उभरते उभरे आधुनिक निर्माण और सेवा उद्योग ग्रामीण जनता के लिए आकर्षण का केंद्र है वह मानते हैं कि वह शहरी केंद्र में जाकर अपना जीवन सुधार सकते हैं। अतः उपर्युक्त सभी कारण शहरीकरण को बढ़ावा देता है।

Share on Social Media

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *